मछली पालन लोन कैसे ले योजना 2023| Machli Palan Loan Kaise Le

हमारे देश भारत जोकि तीन हिस्सों से पानी से घिरा हुआ है. हमारे देश की कुछ मुख्य स्टेट जैसे गुजरात, महाराष्ट्र, गोवा, कर्नाटका, केरला, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश ,उड़ीसा ,पश्चिम बंगाल, इत्यादि अन्य समुंदर के बहुत ज्यादा नजदीक है. इन स्टेट्स में मछली पालन व्यवसाय एक आम बात है.

अगर आप भारत के किसी भी स्टेट में रहते हैं और आपके मन में कभी यह सवाल आया है कि हम मछली पालन के लिए लोन कैसे ले सकते हैं या फिर मछली पालन व्यवसाय कैसे शुरू करें .

दोस्तों आपके इसी सवाल का जवाब लेकर अभी हम हाजिर हैं. यहां पर हम आपको जानकारी देंगे कैसे आप मछली पालन व्यवसाय शुरू कर सकते हैं, मछली पालन व्यवसाय शुरू करने के लिए लोन कैसे लिया जा सकता है, सरकार के द्वारा मछली पालन के लिए सब्सिडी कैसे ली जा सकती है इत्यादि अन्य जानकारी के बारे में विस्तार से जानकारी देंगे.

इसलिए आप सभी से निवेदन है कि आप इस आर्टिकल को शुरू से लेकर अंत तक अवश्य पढ़े तो चलिए जान लेते हैं कि आखिर मछली पालन क्या होता है?

जानिए पोस्ट की मुख्य हैडलाइन

मछली पालन क्या होता है?

machli palan loan kaise le hindi

मछलियों को पालने की क्रिया को ही मछली पालन कहते हैं,इसे इंग्लिश में फिश फार्मिंग भी कहा जाता है.

मछली पालन व्यवसाय एक काफी किफायती व्यवसाय है जिसकी डिमांड दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही है.

भारत के ग्रामीण इलाकों में मछली पालन व्यवसाय शुरू करना आम बात है.यह व्यवसाय आपको लाखों रुपए कमा कर दे सकता है.

मछली पालन व्यवसाय को शुरू करने के लिए ज्यादा पढ़े लिखे व्यक्ति होना भी आवश्यक नहीं है इस व्यवसाय को कोई भी अनपढ़ व्यक्ति भी आसानी से कर सकता है.

इस व्यवसाय को शुरू करने के लिए आवेदक को सिर्फ अपनी तरफ तरफ से 25% धनराशि लगानी होती है, बाकी की राशि आपको केंद्र सरकार और राज्य सरकार के द्वारा मुहैया कराई जाती है.

हाल ही में मछली को सेवन करने वाले लोगों की संख्या में वृद्धि हुई है, देश की बढ़ती हुई जनसंख्या के कारण खाद्य पदार्थों जैसे दूध, घी, मक्खन, चावल, दाल, गेहूं में गिरावट आई है. जिसके चलते कुछ राज्यों में लोग नॉनवेज भोजन का इस्तेमाल कर रहे हैं.

वर्तमान समय में भारत में 60% से भी ज्यादा लोग मछली का सेवन करना पसंद करते हैं क्योंकि मछली में 14 से 25% तक प्रोटीन पाया जाता है. इसके अलावा कार्बोहाइड्रेट, खनिज लवण, कैल्शियम फास्फोरस, लोहा इत्यादि तत्व शामिल होते हैं.

इनको भी पढ़े

नोट : आधुनिक एक रिसर्च से पता चला है की मछली का सेवन करने वाले लोगों को हृदय से जुड़े हुए रोग बहुत ही कम होते हैं क्योंकि यह खून में कोलेस्ट्रोल की मात्रा को कम करती है.

Machli Palan Loan Details In Hindi

मछली पालन व्यवसाय को शुरू करने से पहले आप नीचे दी गई सारणी को अवश्य देख लें ताकि आपको लोन लेते समय किसी प्रकार की समस्या उत्पन्न ना हो.

मछली पालन लोन को सरकार की योजना के अंतर्गत प्राइवेट सेक्टर बैंक और पब्लिक सेक्टर बैंक से आवेदन किया जा सकता है, जिसके लिए आपके पास पर्याप्त भूमि, जलापूर्ति का होना जरूरी है .

मछली पालन लोन के बारे में जानकारी

आर्टिकल का नाममछली पालन लोन कैसे ले?
लोन का प्रकारबिजनेस लोन
योजना का नामप्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना 2023
संबंधित विभागमत्स्यपालन विभाग
उद्देश्यबेरोजगार लोगों को रोजगार के अवसर प्रदान करना.
लाभार्थीमछुआरे, कृषि कार्य से जुड़े हुए लोग
मछली पालन लोन के लिए जरूरी दस्तावेजआधार कार्ड, पैन कार्ड, इनकम प्रूफ, ऐड्रेस प्रूफ इत्यादि अन्य.
मछली पालन व्यवसाय शुरू करने के लिए आयु21 से 65 वर्ष के बीच
मछली पालन लोन इंटरेस्ट रेट11.20 % वार्षिक ब्याज दर से शुरू
मछली पालन जमा करने के लिए समय12 महीने से 60 महीने तक
मछली पालन लोन कितना मिलेगा?1 लाख से 60 लाख रूपये तक
Machli Palan Loan Application Form PDFDOWNLOAD PDF
लोन आवेदन करने का तरीकाऑफलाइन बैंक शाखा से लिया जा सकता है.
ऑनलाइन प्रोसेसअभी उपलब्ध नहीं है.

Machli Palan Guideline: Know Here

Official website: Apply Now

Fishery Loan Application Form : Blue Revolution Scheme PDF Form

Machli Palan Loan Yojana क्या है?

मछली पालन लोन योजना एक ऐसी सरकारी योजना है जिसके अंतर्गत आवेदक व्यक्ति को केंद्र सरकार और राज्य सरकार के द्वारा 75% तक धनराशि प्रदान की जाती है. शेष राशि आवेदक को खुद से जुटानी पड़ती है.

Machli Palan Loan Yojana पात्रता – Eligibility

मछली पालन लोन योजना के हेतु निम्नलिखित एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया है जिसका आवेदक को पालन करना होगा :

  • मछली पालन व्यवसाय से लोन लेने के लिए सबसे पहले तो आवेदक के पास पर्याप्त भूमि होनी चाहिए.
  • इसके अलावा भूमि के जल क्षमता को मापने के लिए अपने नजदीकी कृषि सेंटर से संपर्क कर सकते हैं.
  • जहां पर मछली पालन व्यवसाय शुरू करना जा रहे हैं वहां पर जलापूर्ति का साधन भी होना जरूरी है.
  • मछली पालन व्यवसाय को शुरू करने के लिए सबसे पहले आवेदक व्यक्ति को मछली प्रशिक्षण केंद्र से ट्रेनिंग लेनी होगी जिसके लिए वह अपने नजदीकी कृषि विभाग सेंटर से संपर्क कर सकता है.
  • आवेदक इस व्यवसाय को ग्रामीण क्षेत्र में मौजूद तालाबों,पट्टे पर ली गई जमीन या फिर जो कृषि योग्य भूमि नहीं है, वहां पर तालाब बनाकर शुरू कर सकता है.
  • मछली पालन व्यवसाय को किसी भी आयु वर्ग का व्यक्ति शुरू कर सकता है, लेकिन बैंक द्वारा निर्धारित न्यूनतम आयु 21 वर्ष रखी गई है
  • मछली पालन व्यवसाय को शुरू करने के लिए किसी भी तरह की शैक्षणिक योग्यता नहीं रखी गई है, अगर कोई व्यक्ति अनपढ़ है तो वह भी इस व्यवसाय को शुरू कर सकता है.
  • मत्स्य पालन व्यवसाय से लोन हेतु आवेदन व्यक्ति के पास कुछ जरूरी डाक्यूमेंट्स जैसे आधार कार्ड पैन कार्ड का होना जरूरी है.
  • अगर आवेदक पहले से मछली पालन शुरू कर रहा है तो उसे लोन लेने के लिए अपनी प्रोजेक्ट रिपोर्ट बैंक को दिखानी होगी.
  • लोन आवेदन करने के लिए आवेदक व्यक्ति एक मछुआरा या फिर कृषि कार्यों से जुड़ा हुआ किसान हो सकता है. अन्य लोग भी आवेदन कर सकते हैं.
  • अगर आप मछली पालने का शौक रखते हैं तो फिर आप उपयुक्त मछली पालने की नस्ल को तैयार कर सकते हैं.
  • मछलियों का इस्तेमाल खाने और शौक के लिए भी किया जाता है इसलिए आवेदक व्यक्ति को विभिन्न प्रजातियों के बारे में अच्छा ज्ञान भी होना चाहिए . मछलियों का उपयोग घर में सजावट और होम डेकोरेशन में भी किया जाता है.
  • लोन राशि प्राप्त करने के लिए आवेदक के पास एक बैंक खाता संख्या होना जरूरी है.
  • इस लोन को आवेदन किसी भी प्राइवेट सेक्टर बैंक,पब्लिक सेक्टर बैंक से आवेदन किया जा सकता है. अगर सरकार की कोई योजना मौजूद है तो वहां से आप लोन पर सब्सिडी भी प्राप्त कर सकते हैं.

इसे पढ़िए

मछली पालन लोन के लिए आवश्यक दस्तावेज

मछली पालन व्यवसाय शुरू करने के लिए निम्नलिखित डॉक्यूमेंट की आवश्यकता पड़ेगी जो इस प्रकार है:

  • आवेदन फॉर्म हाथ से भरा हुआ
  • आधार कार्ड
  • पैन कार्ड
  • मत्स्य प्रशिक्षण सर्टिफिकेट
  • इनकम सर्टिफिकेट
  • जाति प्रमाण पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आधार कार्ड से लिंक मोबाइल नंबर
  • बैंक खाता संख्या
  • 6 महीने का बैंक स्टेटमेंट
  • यदि आवेदक की कोई फॉर्म है तो प्रोजेक्ट रिपोर्ट
  • चार्टर्ड अकाउंटेंट से वेरीफाइड एक बिजनेस रिपोर्ट

उपरोक्त डॉक्यूमेंट की आवश्यकता पड़ेगी अगर आप मछली पालन व्यवसाय को शुरू करना चाहते हैं इसके अलावा मछली पालन लोन लेने के लिए भी इन्हीं डाक्यूमेंट्स की आवश्यकता पड़ेगी.

इनको भी पढ़े

मछली पालन लोन आवेदन प्रोसेस

मछली पालन व्यवसाय को शुरू करने के लिए बैंक और सरकार के द्वारा चलाई जाने वाली योजना के अंतर्गत लोन लिया जा सकता है. यहां पर हमने आपको बताया है कि कैसे आप मछली पालन योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं.

मछली पालन लोन बैंक से कैसे लें

मछली पालन व्यवसाय को शुरू करने के लिए एक्सिस बैंक, एसबीआई बैंक, एचडीएफसी बैंक, पंजाब नेशनल बैंक इत्यादि अन्य ब्रांच से आसान लोन प्रक्रिया के साथ लोन लिया जा सकता है.

ये बैंक आपको लोन को जमा करने के लिए 12 महीने से लेकर 60 महीनों की अवधि उपलब्ध करा देते हैं.

इसके अलावा लोन को लेने के लिए आवेदक को अपने नजदीकी ब्रांच में जाना होगा और वहां पर आवेदन फॉर्म को भरना होगा.

सभी जानकारी सही-सही भरने के बाद आवेदक को अपने जरूरी डॉक्यूमेंट को अटेस्टेड करके ब्रांच में सबमिट करना होगा, इसके बाद बैंक लोन दे देगा

मत्स्य पालन विभाग से आवेदन करें

Step 1. मछली पालन लोन लेने के लिए सबसे पहले आप अपने क्षेत्र के मत्स्य पालन विभाग केंद्र से संपर्क करें.

Step 2. अब आपको विभाग के अंदर से मछली पालन व्यवसाय को शुरू करने के लिए उपयुक्त जानकारी मिल जाएगी.

Step 3. लोन लेने के लिए वहां से अपनी जमीन, तलाब प्रोजेक्ट रिपोर्ट इत्यादि अन्य को वेरीफाई कराएं.

Step 4. इसके बाद अपने नजदीकी किसी भी पब्लिक सेक्टर बैंक नियर प्राइवेट सेक्टर बैंक में जाए.

Step 5. वहां पर स्मॉल बिजनेस लोन के अंतर्गत लोन आवेदन करें.

Step 6. इसके बाद लोन से जुड़े हुए सभी डाक्यूमेंट्स को तैयार कर ले और एप्लीकेशन फॉर्म के साथ ब्रांच में जमा कर दें.

Step 7. अगर आपकी सभी जानकारी सही पाई जाती है और आपका ऑनलाइन वेरिफिकेशन सक्सेसफुली हो जाता है तो फिर आपको बैंक के द्वारा लोन राशि दे दी जाती है.

उपरोक्त स्टेप्स को फॉलो करके आसानी से मत्स्य पालन विभाग केंद्र से संपर्क करके लोन लिया जा सकता है इसके केंद्र भारत के सभी राज्यों में मौजूद है जैसे हरियाणा, पंजाब, उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, आंध्र प्रदेश इत्यादि अन्य.

मछली पालन लोन किसान क्रेडिट कार्ड से ले?

वर्तमान समय में सरकार किसानों को नए रोजगार को शुरू करने के लिए किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने की सुविधा देती है जिसके माध्यम से आसानी से ₹50000 से लेकर 3 लाख रुपए का लोन लिया जा सकता है. लोन लेने के लिए आप नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो कर सकते हैं:

Step👉: सबसे पहले अपने नजदीकी किसी भी ब्रांच में जाए लोन लेने के लिए ब्रांच में किसान क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन करें

Step👉: इसके बाद किसान क्रेडिट कार्ड को बनवाने के लिए लगने वाले दस्तावेज और एप्लीकेशन फॉर्म को तैयार कर ले

Step👉: अब एप्लीकेशन फॉर्म के साथ अपने सभी जरूरी डॉक्यूमेंट को अटेस्टेड करके बैंक में वेरिफिकेशन के लिए दे

Step👉: उसके बाद बैंक आपको क्रेडिट लिमिट प्रदान करेगा अब इस क्रेडिट लिमिट को प्राप्त करने के लिए आपको अपनी बिजनेस की रिपोर्ट देनी होगी

Step👉: इसके अलावा आप अपनी जमीन तालाब इत्यादि की जमीन रजिस्ट्री भी वेरीफाई करवा सकते हैं

Step👉: सभी डिटेल वेरीफाई होने के बाद बैंक आपकी दिए गए बैंक खाते में लोन राशि ट्रांसफर कर देगा

Step👉: अब आप इस लोन का इस्तेमाल मछली पालन व्यवसाय को शुरू करने के लिए कर सकते हैं

नोट: मछली पालन क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करने पर जानकारी

किसान क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल मछली पालन व्यवसाय को शुरू करने के लिए किया जा सकता है.

आप अपने निकटतम बैंक ब्रांच से मछली पालन व्यवसाय को शुरू करने के लिए इस क्रेडिट कार्ड को ले सकते हैं.

किसान क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करके 1.60 लाख रुपये का लोन बिना किसी गारंटी के लिया जा सकता है.

इसके अलावा इस क्रेडिट कार्ड में अधिकतम लिमिट ₹300000 तक मिल सकती है.

इस क्रेडिट कार्ड पर मिलने वाला लोन आपको 9% वार्षिक ब्याज दर पर मिल जाता है और सरकार के द्वारा किसानों को 2% सब्सिडी भी दी जाती है.

अगर आप इस क्रेडिट कार्ड को बनवाना चाहते हैं तो अपने नजदीकी ब्रांच से संपर्क कर सकते हैं.

अगर आप क्रेडिट कार्ड से लिए गए लोन को 1 वर्ष के अंदर जमा कर देते हैं तो आपको 3% तक छूट भी दी जाती है यह बैंक के नियम अनुसार निर्भर करेगा.

मछली पालन लोन सब्सिडी 2022 2023

मछली पालन योजना के अंतर्गत मछुआरों और इस कार्य से जुड़े हुए लोगों को सब्सिडी सरकार के द्वारा दी जाती है अनुसूचित जाति और महिलाओं को 60% तक सब्सिडी दी जाती है और वही अन्य लोगों को 40% तक सब्सिडी मिल सकती है.

मछली पालन सब्सिडी 2022-2023 में केंद्र सरकार की ओर से और राज्य सरकार की ओर दो लाख रुपए तक छूट भी दी जाती है.

मछली पालन लोन योजना का मुख्य उद्देश्य

मछली पालन लोन योजना का मुख्य उद्देश्य बेरोजगार लोगों को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराना है.

इस व्यवसाय को अनपढ़ लोग भी आसानी से शुरू कर सकते हैं. मछली पालन व्यवसाय एक ऐसा व्यवसाय है जहां पर प्रॉफिट बहुत ज्यादा है.

अगर आप मछलियों की उन्नत किस्म को पालते हैं तो वहां पर मछलियों के बीज,मछलियों की प्रजाति ,रंग बिरंगी प्रजाति पालने वाली मछलियों अलग-अलग प्राइस पर बेची जाती है.

मछली पालन व्यवसाय शुरू करने के बाद व्यक्तियों को नए रोजगार के अवसर मिलेंगे जिसके बाद वे राज्य की उन्नति में भागीदार होंगे.

इसे पढ़िए Kosh Microfinance Se Loan Kaise Le

मछली पालन ट्रेनिंग सेंटर

मछली पालन ट्रेनिंग सेंटर से प्रशिक्षण लेकर मछली पालन व्यवसाय को शुरू किया जा सकता है.वर्तमान समय में देश में कई सारे शहरों में यह सुविधा उपलब्ध है जहां पर आपको मछलियों को पालने, मछलियों की प्रजातियों को पहचानने, मछलियों के रखरखाव के लिए, ट्रेनिंग दी जाती है.

केंद्र सरकार और राज्य सरकार इन ट्रेनिंग सेंटर के माध्यम से मछली पालन करने वाले लोगों को रोजगार के अवसर उपलब्ध करवाती है.

भारत के हरियाणा, पंजाब, उत्तर प्रदेश, बिहार पटना ,छत्तीसगढ़ इत्यादि अन्य राज्यों में मछली पालन ट्रेनिंग सेंटर देखे जा सकते हैं.

मछली पालन लोन हरियाणा

अगर आप हरियाणा के निवासी है और आप अपना नया कारोबार मछली पालन शुरू करना चाहते हैं तो ऐसे में आप अंत्योदय सरल पोर्टल (Antyodaya Saral Portal) के माध्यम से आवेदन कर सकते हैं.

हरियाणा में मत्स्य पालन अधिकारी एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी ने मीडिया को सूचित किया कि इस योजना के तहत वर्ष 2022-223 के मत्स्य अनुदान के लिए आवेदन स्वीकार किए जा रहे हैं. किसान 15 फरवरी तक आवेदन कर सकते हैं.

अगर आप हिसार में रहते हैं तो वहीं, ब्लू बर्ड हिसार के पास स्थित मत्स्य विभाग में जाकर आप वहां योजना से जुड़ी सभी जानकारी प्राप्त करने के बाद मछली पालन लोन लेने के लिए आवेदन कर सकते हैं.

इसे पढ़िए Mobikwik ZIP Se Loan Kaise Le

मछली पालन लोन उत्तर प्रदेश 2022

वर्तमान समय में यह योजना उत्तर प्रदेश में भी बहुत अधिक लोकप्रिय हो रही है. अगर आप उत्तर प्रदेश में रहते हैं तो ऐसे में आप डायरेक्ट प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना लोन अप्लाई कर सकते है.

योजना के तहत सामान्य वर्ग के लोगों की कुल इकाई लागत का अधिकतम 40 प्रतिशत और अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और महिला लाभार्थियों को अधिकतक 60 प्रतिशत अनुदान राशि डीबीटी के माध्यम से दी जाएगी.

इसमें सामान्य वर्ग के 60 प्रतिशत अंश और अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और महिला लाभार्थियों को 40 प्रतिशत अंश खुद से या फिर किसी बैंक से लोन लेकर देना होगा.

लाभार्थियों को देय अनुदान की धनराशि दो या तीन किश्तों दी जाएगी.

मछली पालन ट्रेनिंग सेंटर MP

मछली पालन व्यवसाय को शुरू करने के लिए यदि आप मध्यप्रदेश में रहते हैं तो वहां से आप अपने नजदीकी ट्रेनिंग सेंटर से मछली पालन व्यवसाय को शुरू करने के लिए ट्रेनिंग ले सकते हैं.

वर्तमान समय में मध्यप्रदेश में 3.56 लाख हेक्टयर जलक्षेत्र जलाशय, पोखर और तालाब के रूप में उपलब्ध है, जिसमें 2.94 लाख हेक्टयर जलक्षेत्र जलाशय का तथा 0.62 लाख हेक्टयर जलक्षेत्र ग्रामीण तालाब एवं पोखर का सम्मिलित है.

सिंचाई जलाशय पंचायत राज संस्थाओं को मध्यप्रदेश शासन, मछली पालन विभाग, मंत्रालय भोपाल के आदेश क्रमांक 1548/2008/36 दिनांक 08.10.2008 से हस्तांतरित किये गये है.

इसे पढ़िए MoneyTap Se Loan Kaise Le

मछली पालन व्यवसाय से जुड़ी जानकारी

अगर आपको मछली पालन व्यवसाय शुरू करने में किसी भी तरह की समस्या आ रही है तो आप नीचे दी गई वीडियो को देख सकते हैं यहां पर आपके कई सारे डाउट क्लियर हो जाएंगे.

मछली पालन शुरू करने के लिए जमीन

मछली पालन शुरू करने के लिए 2 हेक्टेयर जमीन निर्धारित की गई है अगर समूह में यह व्यवसाय शुरू करते हैं 20 हेक्टेयर तक की जमीन निर्धारित की गई है.

योजना का लाभ लेने के लिए खुद की जमीन की उपलब्धता के लिए ऑफिशियल वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन कराना होगा.

इसके अलावा लाभार्थी रजिस्टर्ड पट्टे पर जमीन ले सकते हैं और वहां से मछली पालन व्यवसाय शुरू कर सकते हैं.

एक बात का और ध्यान रखें इंफ्रास्ट्रक्चर परियोजनाओं के लिए न्यूनतम 10 साल की पट्टा अवधि और शेष परियोजनाओं के लिए सात वर्ष से कम कम की पट्टा अवधि मान्य होगी.

मछली पालन के लिए नए तालाब का निर्माण करवाना

अगर आप मछली पालन व्यवसाय को शुरू करने के लिए नए तालाब का निर्माण करवाना चाहते हैं तो आप करवा सकते हैं जिसके लिए सरकार द्वारा चलाई जाने वाली योजना के अंतर्गत 2 लाख प्रति हेक्टेयर की सहायता प्रदान की जाएगी और साथ ही मछलियों के बीज खरीदने के लिए सब्सिडी भी दी जाएगी.

सरकार द्वारा चलाई गई योजना के तहत आप गांव के तालाबों का इस्तेमाल कर सकते हैं. पंचायती तालाबों को पट्टे पर लेकर मछली पालन के लिए उपयोग किया जा सकता है.

किसान मछली पालन के लिए ग्राम पंचायत से पंचायती तालाबों को 7 वर्ष से लेकर 10 वर्ष तक पट्टे पर लेकर पंचायती तालाबों का मछली पालन के लिए उपयोग किया जा सकता है.

मत्स्य पालन से क्या लाभ है?

मछली पालन से निम्नलिखित लाभ है

  1. मछली पालन व्यवसाय एक ऐसा व्यवसाय है जिसमें बिजनेस मैं नुकसान होने का खतरा काम रहता है.
  2. कम समय में अधिकतम धनराशि कमाए जा सकती है
  3. मछली पालन व्यवसाय के अंतर्गत मछलियों को पालने का कार्य किया जा सकता है.
  4. मछलियों का उपयोग दवाइयों में किया जा सकता है.
  5. कुछ लोग मछलियों का उपयोग अपनी रोजमर्रा की जिंदगी में करते हैं.
  6. मछली खाने से आंखों की रोशनी कभी कम नहीं होती .
  7. अक्सर देखा गया है कि मछली खाने वाले लोगों को हार्ट अटैक की बीमारी बहुत कम होती है.
  8. मछली में उपयुक्त सभी पोषक तत्व पाए जाते हैं जैसे प्रोटीन कार्बोहाइड्रेट खनिज लवण इत्यादि अन्य.
  9. मछली पालन व्यवसाय को शुरू करने के लिए सरकार 75% तक धनराशि दे देती है.

मछली तैयार होने में कितना समय लगता है?

एक मछली को तैयार होने में 25 दिनों का समय लगता है. बीज को डालने के बाद तलाब में 20 से 25 दिनों के अंतराल में मछलियां तैयार हो जाती है.

मछली को जल्दी बड़ा करने के लिए क्या खिलाए?

मछली को जल्दी बड़ा करने के लिए गोबर की खाद का उपयोग कर सकते हैं. इसके अलावा मछलियां केंचुए, हरे पत्तेदार सब्जियां, उबले हुए चावल, अनाज से बनी हुई चीजें पसंद करती है. इनको खाने से मछलियों की ग्रोथ बहुत जल्दी हो जाती है.

मछली पालन के लिए तालाब की गहराई कितनी होनी चाहिए?

मछली पालने के लिए तालाब की गहराई 2.0-2.5 मीटर तक होती है.मछली पालन वाले तालाब आकार में बहुत बड़े होते हैं और इन तालाबों में मछलियों का पालन उस समय तक किया जाता है जब तक वह खाने योग्य ना हो जाए ऐसे तालाबों का आकार क्षेत्रफल की दृष्टि से 0.5 से 2.0 हेक्टेयर होता है.

छोटे तालाब में मछली पालन कैसे करें?

आजकल बहुत सारे लोग छोटे तालाब में भी मछलियां पालने का काम करते हैं मछली पालने के लिए तालाब या गट्टे का इस्तेमाल किया जा सकता है इस व्यवसाय को शुरू करने के लिए तालाब या गड्ढे की गहराई 1.5 मीटर होनी चाहिए. तालाबों या गड्ढों में पशु गोबर, गोबर गैस, केंचुए हरी पत्तेदार सब्जियों इत्यादि जैविक उत्पादों का इस्तेमाल कर सकते हैं.

FAQs: मछली पालन लोन योजना

प्रधानमंत्री मत्स्य योजना क्या है?

प्रधानमंत्री मत्स्य योजना एक ऐसी योजना है जिसके अंतर्गत मछली पालन व्यवसाय को शुरू करने मछली पालन के लिए लोन लिया जा सकता है. इस योजना के अंतर्गत आवेदक को 75% तक लोन राशि केंद्र सरकार और राज्य सरकार द्वारा उपलब्ध करवाई जाती है..

मछली पालन लोन योजना क्या है?

मैं मछली पालन व्यवसाय को शुरू करने के लिए सरकार के द्वारा लिए गए लोन को मछली पालन योजना कहते हैं वर्तमान समय में ब्लू बर्ड योजना के अंतर्गत और प्रधानमंत्री मत्स्य पालन योजना के अंतर्गत लोन लिया जा सकता है.

मछली पालन शुरुआत कैसे करें?

मछली पालन शुरू करने के लिए सबसे पहले पर्याप्त भूमि ,जलापूर्ति मछली के बीज का प्रबंध करें. इसके बाद अपने नजदीकी मत्स्य प्रशिक्षण केंद्र से ट्रेनिंग लेकर इस व्यवसाय की शुरुआत की जा सकती है.

मछली पालन के लिए कितना लोन मिलता है?

मछली पालन के लिए अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के लोग 50 लाख रुपए तक का लोन ले सकते हैं और सामान्य जाति के लोग 20 लाख रुपए का लोन ले सकते हैं. इस लोन को लेने के बाद सरकार के द्वारा सब्सिडी भी दी जाती है.

मछली पालन के लिए कौन सी बैंक लोन देती है?

मछली पालने के लिए लोन एक्सिस बैंक एचडीएफसी बैंक एसबीआई बैंक पंजाब नेशनल बैंक यूनियन बैंक कॉरपोरेशन बैंक से लिया जा सकता है इस लोन को लेने के लिए पब्लिक सेक्टर बैंक या प्राइवेट सेक्टर बैंक में आवेदन किया जा सकता है.

मछली पालन के लिए लोन कैसे लिया जाता है?

मछली पालने के लिए लोन सरकार द्वारा चलाई जाने वाली योजना के अंतर्गत लिया जा सकता है या फिर आप किसान क्रेडिट कार्ड के माध्यम से भी लोन ले सकते हैं.

मछली पालन के लिए कैसे प्राप्त करें

मछली पालने के लिए लोन बैंक फाइनेंस कंपनी या फिर सरकार द्वारा चलाई जाने वाली योजना के अंतर्गत प्राप्त किया जा सकता है.

मछली का बीज कितने रुपए किलो मिलता है?

मछली का बीज आमतौर पर ₹200 से ₹250 किलो मिल जाता है इसके अलावा आप अपने नजदीकी तलाब से ताजा मछलियां भी कर सकते हैं.मछली बीज फ्राई और फिंगर लिंक के रूप में मछलीपालकों को आपूर्ति करते हैं.

मछली पालन के लिए कम से कम कितना जमीन चाहिए?

मछली पालन शुरू करने के लिए न्यूनतम भूमि 0.2 हेक्टेयर होनी चाहिए नया तालाब बनाने में 0.2 हेक्टेयर भूमि के लिए ₹70000 से ₹80000 का खर्च आता है.

मछली पालन कौन से महीने में किया जाता है?

मछली पालन मार्च महीने में तालाब में बीज डालना उपयुक्त माना जाता है क्योंकि इस समय पर मौसम सुहावना हो जाता है और बारिश की वजह से भूमि में जलापूर्ति भी अच्छी हो जाती है.

सबसे जल्दी तैयार होने वाली मछली कौन सी है?

सबसे जल्दी तैयार होने वाली मछली की प्रजाति का नाम कतला मच्छी है यह मछली गंगा तटीय क्षेत्रों में पानी वाली विशेष प्रजाति है.

Conclusion: मछली पालन लोन

दोस्तों आज के आर्टिकल के माध्यम से हमने आपको मछली पालन व्यवसाय कैसे शुरू करते हैं मछली पालन व्यवसाय शुरू करने के लिए लोन कैसे लेना है के बारे में स्टेप बाय स्टेप कंपलीट गाइड किया है अगर आपको इस लोन लेने में किसी भी तरह की समस्या आ रही है तो नीचे कमेंट अवश्य करें अधिक जानकारी के लिए हमारी वेबसाइट की Notification बैल को ऑन कर ले ताकि आपको न्यू जानकारी सबसे पहले मिल सके.

Follow On Google News 👉फॉलो करे
Follow On YouTube 👉फॉलो करे
Join On Telegram (New Update) 🔥जुड़िये टेलीग्राम पर
Follow On Facebook 👉फॉलो करे
Web Portal (Loanpaye) 👉और पढ़े
आपको यह पोस्ट केसी लगी?
👍👎

Leave a Comment