Crypto में SIP पर ‘ज़ीरो’ टीडीएस! Bitbns के इस ‘टैक्स शील्ड’ का क्या है मतलब ?

Cryptocurrency News: Bitbns का कहना है कि उनकी नई स्कीम में SIP के जरिए इन्वेस्ट करने वाले उपयोगकर्ताओं को क्रिप्टो पर लागू टीडीएस का नहीं देना पड़ेगा.

Bitbns Introduces Tax Shield ‘Zero TDS’ on SIP In Cryptocurrency

देश में क्रिप्टोकरंसी में इन्वेस्ट करने वालों के लिए एक बहुत बड़ी खुशखबरी है. हाल ही में देश के सबसे बड़े क्रिप्टो SIP प्लेटफ़ॉर्म बिटबीएनएस (Bitbns) ने इन्वेस्ट करने वाले लोगों के लिए एक नई Tax Shield ‘Zero TDS’ स्कीम को लॉन्च किया है.कंपनी का कहना है कि उनकी इस स्कीम में सिस्टमैटिक इनवेस्टमेंट प्लान यानी SIP के जरिए निवेश करने वालों को क्रिप्टो पर लागू टीडीएस नहीं देना पड़ेगा,हालांकि इस सुविधा का लाभ उठाने के लिए निवेशकों को कुछ नियम और शर्तों का पालन करना होगा.

Bitbns की इस खास ‘ज़ीरो टीडीएस’ स्कीम का नाम है बिट-ड्रॉपलेट (Bitdroplet) SIP है. कंपनी के मुताबिक यदि कोई निवेशक इस स्कीम में लगातार 12 महीने तक सिस्टमैटिक इनवेस्टमेंट प्लान के जरिए निवेश करता है, तो स्कीम से एग्जिट करते समय यानी अपना निवेश बाहर निकालते समय उसे टीडीएस (Tax Deducted at Source) के बराबर रकम रिफंड के तौर पर दी जाएगी.

Crypto Me sip par zero tds janiye kaise uthaye laab

कंपनी की तरफ से जारी बयान के मुताबिक यह सुविधा उसके सभी मौजूदा और नए एसआईपी इन्वेस्ट करने वाले लोगों को मुहैया कराई जाएगी. हालांकि, देश में 1 जुलाई से लागू नए टैक्स नियमों के तहत सभी क्रिप्टोकरेंसी ट्रांजैक्शन्स पर 1 फीसदी की दर से टीडीएस देना जरूरी है.

Bitbns के मुताबिक उसके बिट-ड्रॉपलेट (Bitdroplet) SIP में 19 नए टोकन जोड़े जा रहे हैं, जिनमें अब इस स्कीम के जरिए Investment किया जा सकेगा. कंपनी का दावा है कि देश में क्रिप्टो करेंसी के निवेशकों के लिए इस तरह की स्कीम पहली बार ही शुरू की गई है.

Bitbns का कहना है कि उसकी इस नई पहल का मकसद क्रिप्टो में निवेश करने वालों को टैक्स के बोध से छुटकारा पाना और साथ साथ के बोझ से SIP के जरिए इन्वेस्टमेंट को बढ़ावा देना है इससे इन्वेस्ट करने वाले लोगों को क्रिप्टो में निवेश के दौरान एवरेजिंग का लाभ मिलेगा और बाजार में आने वाले उतार-चढ़ाव का जोखिम कम हो जाएगा.

हालांकि Bitdroplet प्लेटफॉर्म में SIP के माध्यम से निवेश करने वालों के लिए कोई लॉक-इन पीरियड लागू नहीं है, लेकिन 12 महीने तक निवेश करने के बाद एग्जिट करने पर निवेशक पर बनने वाली टीडीएस की देनदारी को Bitbns की तरफ से रिफंड कर दिया जाएगा.

Bitdroplet प्लेटफॉर्म पर निवेशकों को इनवेस्टमेंट कैलकुलेटर की सुविधा भी दी जाएगी, जिसकी सहायता से निवेशक अलग-अलग अवधि के लिए अपने SIP इनवेस्टमेंट की वैल्यू का आंकलन भी कर सकते हैं.

Bitbns के फाउंडर और सीईओ गौरव दहाके ने अपनी पहली पहल को एसआईपी क्रिप्टो में निवेश की आदर्श और सबसे बेहतर रणनीति बताया है. इससे निवेश करने वालों पर उतार-चढ़ाव कम होगा. और इससे पोर्टफोलियो के डायवर्सिफिकेशन और कंपाउंडिंग दोनों का फायदा मिलेगा.

डिस्क्लेमर: इस खबर में क्रिप्टोकरेंसी में निवेश की सलाह नहीं दी जा रही है. क्रिप्टोकरेंसी में निवेश काफी उथल-पुथल और जोखिम भरा होता है, लिहाजा इसमें निवेश से पहले अपने निवेश सलाहकार की राय जरूर लें.

सरकार कर्मियों की न्यूनतम सैलरी 18 से बढ़कर हो जाएगी 26 हजार रुपये

केंद्रीय कर्मचारियों की बढ़ेगी सैलरी, DA पर जल्द हो सकता है फैसला

5000 Loan On Aadhar Card Kaise Le

बकरी पालन लोन सब्सिडी कैसे लें 2022

हर महीने मिलेंगे 50 हजार रूपये, बस करें ये काम

आधार कार्डधारकों को लगा तगड़ा झटका

आईटीआर फाइल करने की डेडलाइन करीब

Follow On YouTubeCLICK HERE
Join On Telegram (New Update)🔥CLICK HERE
Follow On FacebookCLICK HERE
Web Portal (Loanpaye)CLICK HERE
आपको यह पोस्ट किसी लगी?
Good/अच्छी 😎बेकार/सुधार करो 😥

Leave a Comment