Term Loan क्या है? टर्म लोन कैसे ले? जानिए आवेदन प्रक्रिया, ब्याज दरें, फायदे, नुकसान, डॉक्यूमेंट क्या चाहिए

टर्म लोन एक तरह का बिजनेस लोन होता है जिसे 12 महीने से लेकर 60 महीनों के लिए लिया जा सकता है. टर्म लोन को भूमि, मशीन और इक्विपमेंट या कमर्शियल वाहन खरीदने के लिए बैंक, फाइनेंस कंपनी से लिया जा सकता है. इसके अलावा इस तरह के लोन को बैंक से बिल्डिंग के कंस्‍ट्रक्‍शन के लिए भी लिया जा सकता है. टर्म लोन के साथ आप अपने कारोबार को भी बढ़ा सकते हैं.

इस आर्टिकल के माध्यम से मैं आपके साथ टर्म लोन के बारे में जानकारी शेयर करने वाला हूं इसको पढने के बाद आपके मन किसी तरह का कोई संध्य नहीं रह जायेगा.

आइए जानते हैं

पोस्ट मुख्य हैडलाइन 👉

टर्म लोन क्या है? | What is Term Loan

Term Loan Kya Hai Term Loan kaise le hindi

टर्म लोन को किसी बैंक या फाइनेंस कंपनी के द्वारा एक निश्चित समय अवधि के लिए लिया जा सकता है, इस लोन को ही Term Loan कहा जाता है. इस लोन को निर्धारित मासिक किस्तों (EMI) में चुकाना होता है.

टर्म लोन आमतौर पर फिक्स्ड और फ्लोटिंग रेट ऑफ इंटरेस्ट दोनों तरह के ब्याज के साथ उपलब्ध होते हैं.

टर्म लोन बिजनेस लोन को 12 महीने से लेकर 60 महीने के EMI के साथ जमा किया जा सकता है.

इसके अलावा यदि आप होम लोन लेते हैं तो ऐसे में इस लोन को 10 साल से लेकर 20 साल की अवधि के लिए पा सकते हैं.

अलग-अलग लोन ऑप्शन के साथ टर्म लोन ऊपर किया जा सकता है जैसे कि बिज़नेस लोन, पर्सनल लोन, होम लोन, एजुकेशन लोन, ऑटो लोन और गोल्ड लोन इत्यादि अन्य लोन शामिल होते हैं.

टर्म लोन कैसे लेते हैं?

टर्म लोन को अपने नजदीकी किसी भी सरकारी बैंक प्राइवेट बैंक या फिर अपने नजदीकी फाइनेंस कंपनी से आवेदन किया जा सकता है यहां पर मैंने टर्म लोन कैसे ले सकते हैं इसके रिलेटेड स्टेप बाय स्टेप कंपलीट प्रोसेस बताया है जिसे आप नीचे दिए गए प्रोसेस में पढ़ सकते हैं.

1. लोन मूल्यांकन करें: टर्म लोन लेते समय सबसे पहले आपको इस लोन की जरूरत का आकलन करना चाहिए कि आपको कितनी लोन राशि चाहिए और कितने समय में आप इस लोन राशि को वापस कर सकते हैं सबसे पहले आपको इसके बारे में प्लानिंग बनानी चाहिए.

2. वित्तीय संस्थान ढूँढें: इसके बाद आपको उन बैंक संस्थान फाइनेंस कंपनी की तलाश करनी चाहिए जहां से आपको टर्म लोन मिल सकता है टर्म लोन लेने के लिए आप कुछ बैंकिंग वेबसाइट का भी उपयोग कर सकते हैं.

3. लोन पात्रता की जाँच करें: अब आपको लोन की एलिजिबिलिटी की चेक करने के लिए लोन देने वाली बैंक संस्था के नियम और शर्तों का पालन करना होगा. यहां पर आप का क्रेडिट स्कोर, सैलरी स्लिप, बैंक स्टेटमेंट और संपत्ति के डॉक्यूमेंट सबमिट करने हो सकते हैं जिसके बाद ही आप यह पता लगाए पाएंगे कि आपको यहां से लोन मिल पाएगा या फिर नहीं.

4. लोन आवेदन पत्र भरें: जैसे ही आप की एलिजिबिलिटी चेक हो जाती है और आप लोन के लिए अपरूप हो जाते हैं तो अब आपको एप्लीकेशन फॉर्म भरना होगा.

इसमें आपको अपनी पर्सनल जानकारी और एंप्लॉयमेंट जानकारी एंटर करनी होगी

इसके बाद लोन राशि, टर्म्स ऑफ कंडीशन, टर्म लोन को जमा करने की समय अवधि, ब्याज दर इत्यादि अन्य जानकारी प्रदान करनी होगी.

5. आवेदन के साथ आवश्यक दस्तावेजों की प्रमाणित प्रतियाँ जोड़ें: लोन आवेदन करते समय आपको अपने कुछ जरूरी डॉक्यूमेंट को इस एप्लीकेशन फॉर्म के साथ अटेस्टेड करना होगा जहां पर आपको अपनी सैलरी स्लिप बैंक स्टेटमेंट पहचान प्रमाण पत्र बिजनेस प्लान संपत्ति दस्तावेज इत्यादि अन्य को अटेस्टेड कर देना है.

6. अधिग्रहण प्रक्रिया पूरी करें: इसके बाद, आपको लोन आवेदन की प्रक्रिया पूरी करनी होगी। इसमें आपका आवेदन प्रक्रिया में संशोधित हो सकता है और आपको बैंक या फाइनेंस कंपनी की तरफ से किसी भी अतिरिक्त जानकारी या दस्तावेज़ की आवश्यकता हो सकती है।

7. समझें और समझौतों पर हस्ताक्षर करें: जब आपका लोन मंजूर हो जाता है, तो बैंक या फाइनेंस कंपनी आपको एक लोन एग्रीमेंट प्रदान करेगी। आपको इसे ध्यान से पढ़ना चाहिए और संबंधित शर्तों और ब्याज दरों को समझना चाहिए। यदि सभी बातें सही लगती हैं, तो आपको लोन एग्रीमेंट पर सिग्नेचर करें.

8. लोन राशि प्राप्त करें: लोन एग्रीमेंट पर सिग्नेचर करने के बाद अब आपको इस एप्लीकेशन फॉर्म को ब्रांच में सबमिट कर देना है कुछ समय बाद आपके दिए गए बैंक खाते में लोन राशि ट्रांसफर कर दी जाती है.

ध्यान दें: अगर आप टर्म लोन आवेदन कर रहे हैं तो बेहतर होगा कि आप किसी सरकारी बैंक या किसी फाइनेंस कंपनी से संपर्क करें और वहां पर दी गई टर्म्स ऑफ कंडीशन के बारे में सभी जानकारी प्राप्त करें यदि आपको सही ऑफर मिल रहा है तभी इस लोन को आवेदन करें . अगर आपको लोन की आवश्यकता नहीं है तो ऐसे में इस लोन को आवेदन ना करें.

इसको पढ़िए Loan Resource App क्या है

टर्म लोन कितने प्रकार का होता है?

Term Loan kitane parkar ka hota hai hindi

लोगों की जरूरतों के हिसाब से टर्म लोन को दो वर्गों में बांटा गया है इन दोनों वर्गों के बारे में हमने नीचे जानकारी बताई है

1. सुरक्षित लोन (Secured Loan): सुरक्षित टर्म लोन में आवेदक व्यक्ति को कुछ गिरवी रखना पड़ता है गिरवी वस्तुओं के रूप में आवेदक अपनी कमर्शियल प्रॉपर्टी कच्चा माल या फिर मशीनरी इत्यादि को रख सकता है.

2. असुरक्षित लोन (Unsecured Loan): असुरक्षित टर्म लोन में आवेदक व्यक्ति को कोई भी वस्तु गिरवी रखने की आवश्यकता नहीं होती आमतौर पर इस लोन को किसी भी बैंक किया फाइनेंस कंपनी के द्वारा अधिकतम इंटरेस्ट रेट पर लिया जा सकता है

टर्म लोन के प्रकार

टर्म लोन कई प्रकार के हो सकते हैं जो समय के अनुसार अलग-अलग हो सकते हैं यहां पर हमने टर्म लोन के प्रकार के बारे में जानकारी दी है जिसे आप नीचे पढ़ सकते हैं

1. शॉर्ट टर्म लोन (Short Term Loan): इस तरह के लोन को 12 महीने से लेकर 18 महीने की समय अवधि के लिए लिया जा सकता है इस लोन को शॉर्ट टर्म लोन कहा जाता है अगर आपको कम समय अवधि के लिए लोन चाहिए तो ऐसे में आप इस लोन की ओर जा सकते हैं. कुछ फाइनेंस कंपनियों से इस लोन को 60 महीनों की समय अवधि के साथ भी लिया जा सकता है.

2. Medium-term लोन : इस लोन को किसी फाइनेंस कंपनी या बैंक के द्वारा 36 महीनों से लेकर 60 महीने की समय अवधि के लिए लिया जा सकता है इस तरह के लोन को मध्यम टर्म लोन कहा जाता है. अगर आपको short-term या फिर अधिकतम समय के लिए लोन नहीं चाहिए तो ऐसे में आप इस लोन की ओर जा सकते हैं.

3. Long Term Loan : इस लोन के नाम से ही प्रतीत होता है कि इस लोन को अधिकतम समय के लिए लिया जा सकता है आमतौर पर इस लोन को 60 महीने या फिर इससे अधिक की समय अवधि के लिए लिया जा सकता है इस लोन को ही लॉन्ग टर्म लोन या फिर दीर्घावधि टर्म लोन के नाम से जाना जाता है अगर आप अधिकतम समय के लिए लोन लेना चाहते हैं तो ऐसे में आप इस लोन की ओर जा सकते हैं.

टर्म लोन के फायदे

1. कम ब्याज दर पर इस लोन को ले सकते हैं
2. अधिकतम लोन प्राप्त किया जा सकता है
3. 59 मिनट के अंतर्गत लोन अप्रूव हो जाता है
4. तुरंत लोन ट्रांसफर करने की सुविधा मिल जाती है
5. अनसिक्योर्ड लोन लेने पर कोई भी चीज गिरवी रखने की आवश्यकता नहीं होती
6. अगर लोन को समय पर चुकाते हैं तो ऐसे में टैक्स पर छूट मिल जाती है

टर्म लोन के नुकसान

1. इस लोन को जमा करने के लिए अधिकतम समय मिलता है इसमें ईएमआई का बोझ बना रहता है.
2. लोन लेने के लिए क्रेडिट स्कोर अच्छा होना आवश्यक है तभी लोन ले सकते हैं.
3. इस लोन को लेने के लिए आवेदक का बिजनेस प्रॉफिट में होना चाहिए
4. कई मामलों में आवेदक को गारंटर की आवश्यकता पड़ेगी और यहां पर कोई भी वस्तु गिरवी रखने की आवश्यकता पड़ सकती है
5. ईएमआई को ना चुकाने पर भारी-भरकम जुर्माना लगता है

टर्म लोन लेने के लिए क्या करना होगा?

टर्म लोन लेने के लिए आपको अपने नजदीकी किसी भी सरकारी बैंक में जाना होगा और वहां पर टर्म लोन लेने का एक एप्लीकेशन फॉर्म भरना होगा, जहां पर Loan Amount, Tenure और कुछ जरूरी डॉक्यूमेंट को जमा करना होगा. यदि आप इस लोन के लिए एलिजिबल होते हैं तो फिर आपको बैंक लोन दे देगा, इस प्रकार से आप टर्म लोन को ले सकते हैं.

टर्म लोन को लेने के लिए आप ऑनलाइन कुछ वेबसाइट जैसे बजाज फिनसर्व, पैसा बाजार, बैंक बाजार इत्यादि अन्य का भी उपयोग कर सकते हैं.

टर्म लोन लेने के लिए क्या डॉक्यूमेंट लगते हैं?

  • बैंक एप्लीकेशन फॉर्म
  • बिजनेस प्लान प्रेजेंटेशन
  • केवाईसी डॉक्यूमेंट: आधार कार्ड, पैन कार्ड, वोटर आईडी कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस इत्यादि अन्य
  • बिजनेस ऐड्रेस प्रूफ: प्रॉपर्टी के कागजात, रेंट एग्रीमेंट या फिर लीज डॉक्यूमेंट.
  • पिछले 6 महीने का सैलरी स्लिप सिबिल रिपोर्ट 12 महीने का बैंक स्टेटमेंट
  • अगर आईटीआर भरते हैं तो 2 वर्षों का आइटीआर स्लिप
  • पिछले 2 वर्षों का बिजनेस का लाभ और हानि स्टेटमेंट

टर्म लोन लेने के लिए योग्यता (Eligibility To Avail Term Loan In Hindi)

टर्म लोन लेने के लिए निम्नलिखित एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया को फॉलो करना होगा:

1. सबसे पहले तो आप एक भारतीय नागरिक होने चाहिए
2. आपकी उम्र 21 वर्ष से अधिक होनी चाहिए, अधिकतम आयु 65 वर्ष हो सकती है
4. आवेदक का क्रेडिट स्कोर अच्छा होना चाहिए
5. आवेदक के पास में कोई भी बिजनेस एक्टिव होना चाहिए
6. आवेदक के पास में कोई भी इनकम का नियमित स्त्रोत होना जरूरी है.

टर्म लोन लेते समय आपको कुछ नियम और शर्तें है जिन को फॉलो करना होगा जो कि इस प्रकार है.

1. आवेदन पत्र : आपको किसी भी बैंक या फाइनेंस कंपनी से टर्म लोन के लिए आवेदन फॉर्म भरना होगा.

2. पर्सनल और एंप्लॉयमेंट जानकारी : इस एप्लीकेशन फॉर्म में आपको अपनी पर्सनल और एंप्लॉयमेंट जानकारी जैसे आपका नाम, पता, कांटेक्ट जानकारी, आय का प्रमाण, निवेश, व्यापार का प्रकार इत्यादि अन्य जानकारी को सही सही लिखना होगा.

3. इनकम प्रूफ डॉक्युमेंट्स : इसमें आपको बैंक का स्टेटमेंट आयकर रिटर्न रिपोर्ट बैंक लेखा-जोखा इत्यादि अन्य शामिल हो सकता है

4. बिजनेस डॉक्यूमेंट : टर्म लोन लेते समय आपको अपने बिजनेस के डॉक्यूमेंट भी सबमिट करने होंगे यहां पर आपको व्यापार की प्राथमिकताएँ, वित्तीय बजट, प्रोडक्ट या सेवाएं इत्यादि का विवरण देना होगा.

5. निवेशकों का विवरण: यदि आप एक व्यापार मालिक हैं और टर्म लोन के लिए आवेदन कर रहे हैं, तो आपको अपने व्यापारिक साझेदारों या निवेशकों के विवरण के बारे में भी जानकारी देनी होगी.

6. गारंटर: आपके बैंक या फाइनेंस कंपनी आपसे एक गारंटर की मांग कर सकते हैं। गारंटर एक व्यक्ति हो सकता है जो आपकी लोन की वापसी की गारंटी देता है।

इसके अलावा आवेदक व्यक्ति को बैंक और फाइनेंस कंपनी के द्वारा ऑफिशियल नियम और शर्तों को पूरा करना होगा . यही कुछ नियम और शर्ते हैं अगर आप Term Loan लेने के बारे में सोच रहे हैं.

टर्म लोन कितने तरीको से मिल सकता है ?

टर्म लोन के लिए आवेदन करने के लिए आवेदक व्यक्ति को उस बैंक की वेबसाइट पर जाना होगा जहां पर उसका बैंक खाता मौजूद है. इसके बाद टर्म लोन आवेदन फॉर्म को ऑनलाइन भरना होगा, फॉर्म जमा करने के बाद, बैंक का ऐजेंट आवेदक से संपर्क कर सकता है और इस लोन से जुड़ी हुई सभी जानकारी आपके साथ शेयर करता है.

इसके बाद आप अपने अनुसार लोन राशि और समय अवधि को चुनकर लोन एग्रीमेंट पर सिग्नेचर करने के बाद लोन राशि प्राप्त कर सकते हैं इस प्रकार से आप टर्म लोन के लिए आवेदन कर सकते हैं.

बैंक के माध्यम से निम्नलिखित प्रकार के टर्म लोन आवेदन कर सकते हैं.

  1. वर्किंग कैपिटल लोन : यह लोन आमतौर पर बिजनेस के कैशफ्लो बनाए रखने के लिए या रोजमर्रा के खर्चों को पूरा करने के लिए तुरंत लिए जा सकते हैं इन लोन को कैपिटल लोन के रूप में जाना जाता है. वर्किंग कैपिटल लोन को आमतौर पर शॉर्ट टर्म लोन होते हैं और इस लोन को 12 महीने के ईएमआई प्लान के साथ जमा किया जा सकता है.
  2. ओवरड्राफ्ट : ओवरड्राफ्ट लोन टर्म लोन एक ऐसा लोन होता है जिसमें बैंक ग्राहक को एक क्रेडिट लिमिट प्रदान करता है. इस क्रेडिट लिमिट का उपयोग करके व्यक्ति और ड्राफ्ट फैसिलिटी का उपयोग करके पैसे निकाल सकता है. यहां पर ब्याज निकाली गई राशि पर लगता है ना की कुल राशि पर. इस लोन को जमा करने के लिए 1 महीने से लेकर 12 महीने का समय मिलता है. इस लोन की लिमिट को हर साल बैंक से रिनुअल करवाना पड़ता है.
  3. इक्विपमेंट फाइनेंस: इस प्रकार के लोन का उपयोग बिजनेस और खेती के लिए सामान खरीदने के लिए किया जा सकता है इसमें कॉमर्शियल ट्रांसपोर्ट, मैन्यूफैक्चरिंग, इत्यादि अन्य जैसे अलग-अलग उद्देश्यों शामिल हो सकते हैं. इक्विपमेंट फाइनेंस लोन 1 लाख से 10 करोड़ रुपये तक लिया जा सकता है जहां पर प्रोफाइल आवेदक की प्रोफाइल और व्यवसाय के आधार पर निर्भर की जाती है.

टर्म लोन ब्याज दरें

टर्म लोन पर लगने वाला इंटरेस्ट रेट अलग-अलग बैंकों के हिसाब से अलग-अलग हो सकता .है यह कस्टमर की प्रोफाइल और बिजनेस आवश्यकता ऊपर निर्भर करता है. अगर आवेदक का क्रेडिट स्कोर अच्छा है तो ऐसे में उसे कम ब्याज दर पर लोन मिल जाता है. बैंकों द्वारा दी जाने वाली Term Loan की ब्याज दरें एनबीएफसी या अन्य लोन देने वाली कंपनियों की तुलना में सस्ती होती है.

ब्याज दरों के प्रकार के अनुसार

फिक्स्ड रेट: फिक्स रेट उसे कहते हैं जहां पर इंटरेस्ट रेट में कोई भी बदलाव नहीं होता यानी कि रेपो रेट में बदलाव होने के बावजूद भी ब्याज दर पूरी लोन अवधि में फिक्स्ड रहती है। इस तरह के लोन में किसी भी तरह का बदलाव नहीं आता है.

इस तरह के लोन को लेने पर आवेदक को किसी भी तरह की कोई परेशानी नहीं होती अगर मार्केट में ब्याज दरें बढ़ती भी है तो आपको यह चिंता करने की आवश्यकता नहीं है कि आपकी ईएमआई में भी बढ़ोतरी होगी.

यहां पर हमने कुछ बैंक और एनबीएफसी कंपनी की इंटरेस्ट रेट के बारे में जानकारी दी है जिसे आप नीचे सारणी में देख सकते हैं

बैंक/NBFCब्याज दर (प्रति वर्ष)
स्टेट बैंक ऑफ इंडिया11.00% – 15.00%
ICICI बैंक10.75%
HDFC बैंक10.50%
ऐक्सिस बैंक10.49%
फेडरल बैंक11.49% – 14.49%

Data Source: Related Table Paisabazaar.

फ्लोटिंग रेट: फ्लोटिंग रेट उसे कहते हैं जहां पर इंटरेस्ट रेट में समय-समय पर बदलाव आता रहता है यानी कि रेपो रेट या संबंधित बैंक/ लोन फाइनेंस कंपनी द्वारा उपयोग किए जाने वाले अन्य एक्सटर्नल बेंचमार्क में होने वाले बदलावों के मुताबिक फ्लोटिंग रेट भी समय-समय पर बदल सकती है। उनकी ब्याज दरों में होने वाला बदलाव उधारकर्ताओं के लिए बैंक की रीसेट डेट पर भी निर्भर करता है।

बैंक/NBFCब्याज दर (प्रति वर्ष)
पंजाब नेशनल बैंक10.40% – 16.95%
बैंक ऑफ बडौदा10.90% – 18.25%
UCO बैंक12.45% – 12.85%
यूनियन बैंक ऑफ इंडिया11.40% – 15.50%
बैंक ऑफ महाराष्ट्र10.00% – 12.80%
पंजाब एंड सिंध बैंक11.15% – 12.75%

Data Source: Related Table Paisabazaar

टर्म लोन को किन जरूरतों के लिए लिया जा सकता है?

टर्म लोन को निम्नलिखित जरूरतों के लिए लिया जा सकता है:

1. बिजनेस आवश्यकता : बिजनेस लोन एक बड़ी इन्वेस्टमेंट के लिए उपयोगी होता है इस लोन का उपयोग आमतौर पर नया बिजनेस शुरू करने व्यापार को बढ़ाने नए प्रोडक्ट को लॉन्च करने के लिए धन की जरूरत को पूरा करने के लिए किया जाता है.

2. मशीनरी और उपकरण खरीद: अगर आपको व्यापार में नई मशीनरी या उपकरण की आवश्यकता हो रही है, तो टर्म लोन आपको इसे खरीदने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान कर सकता है।

3. वाहनों की खरीद: यदि आपको कंपनी या व्यापार में वाहनों की जरूरत है, तो टर्म लोन आपको नई गाड़ियों, ट्रक, वैन, बस आदि की खरीद के लिए आर्थिक समर्थन प्रदान कर सकता है।

4. संपत्ति खरीद: टर्म लोन का उपयोग नई संपत्ति खरीद के लिए भी किया जा सकता है, जैसे कि कारोबारियों के लिए दुकान या कार्यालय इमारत, निवेश के लिए विला या अपार्टमेंट आदि।

5. पर्सनल जरूरत: टर्म लोन को पर्सनल जरूरतों के लिए भी लिया जा सकता है जैसे घर का रिनोवेशन करने, घर को बनाने, शादी खर्च, शिक्षा लोन, स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए पैसे आसानी से ले सकते हैं.

यहां पर मैंने कुछ मुख्य जरूरतों के हिसाब से बताया है कि इस लोन को आप किस जरूरत में ले सकते हैं, यदि आपको लोन लेने की सोच रहे हैं, तो बेहतर होगा कि आप अपनी आवश्यकताओं को विचार करें और उसके आधार पर योजना बनाएं।

टर्म लोन कौन कौन ले सकता है?

टर्म लोन के लिए आवेदन हर भारतीय नागरिक कर सकता है जिसकी उम्र 24 वर्ष से अधिक है. आमतौर पर इस लोन के लिए आवेदन सैलरीड पर्सन सेल्फ एंप्लॉयड पर्सन, स्टार्टअप्स, स्वरोज़गार, मैन्यूफैक्चरर, व्यापारी, कारीगर, रीटेल विक्रेता, छोटे व्यवसाय के मालिकों, उद्यमियों, सोल प्रोप्राइटरशिप, माइक्रो स्मॉल एंड मीडियम एंटरप्राइजेज़ (MSME), प्राइवेट और पब्लिक लिमिटेड कंपनियां, पार्टनरशिप फर्म, लिमिटेड लाइबिलिटी पार्टनरशिप, सहकारी समितियां, NGO इत्यादि अन्य टर्म लोन का फायदा ले सकते है

FAQs टर्म लोन से सम्भंधित प्रशन उत्तर

टर्म लोन (Term Loan) क्या होता है?

एक निश्चित समय के लिए बैंक या फाइनेंस कंपनी से लिए गए लोन को टर्म लोन कहते हैं इस लोन पर फाइनेंस कंपनी या बैंक फिक्स्ड या फ्लोटिंग ब्याज दर पर लोन देती है और इस लोन को जमा करने के लिए एक समय निर्धारित किया जाता है उसी समय में आपको इस लोन को जमा करना होता है.

टर्म लोन कितने प्रकार के होते हैं?

टर्म लोन मुख्यतः दो प्रकार का होता है सिक्योर टर्म लोन और अनसिक्योर्ड लोन.

सिक्योर्ड टर्म लोन किसे कहते हैं?

सिक्योर्ड टर्म लोन उसे कहते हैं जहां पर आप को लोन लेते समय कोई वस्तु गिरवी रखनी होती है जैसे प्रॉपर्टी अगेंस्ट लोन, होम लोन, गोल्ड लोन इत्यादि.

अनसिक्योर्ड टर्म लोन किसे कहते हैं?

अनसिक्योर्ड लोन उसे कहते हैं जहां पर आपको लोन लेते समय कोई भी वस्तु गिरवी रखने की आवश्यकता नहीं होती यह लोन आपको न्यूनतम दस्तावेज पर मिल जाता है जैसे पर्सनल लोन. ऑनलाइन शॉपिंग लोन इत्यादि अन्य.

क्या टर्म लोन सुरक्षित हैं?

टर्म लोन लेने सुरक्षित होती है यहां पर दो तरह के लोग होते हैं एक लोन को आप अधिकतम समय के लिए ले सकते हैं और दूसरे लोगों को आप कम समय अवधि के लिए ले सकते हैं. जो लोन आप अधिकतम समय के लिए लेंगे उसे दीर्घकालिक टर्म लोन के नाम से जाना जाता है, वही दूसरे लोन को अल्पकालिक टर्म लोन के नाम से जाना जाता है.

टर्म लोन की विशेषता क्या है?

टर्म लोन की मुख्य विशेषता यह होती है कि इस लोन को आप अपनी जरूरत के हिसाब से ले सकते हैं अगर आप कोई बिजनेस कर रहे हैं तो इस लोन को आप आसानी से एक निश्चित समय कार्यकाल के लिए बैंक या फाइनेंस कंपनी से प्राप्त कर सकते हैं और बाद में आप इस लोन को आसानी से जमा कर सकते हैं

18 महीने का टर्म लोन क्या है?

यह एक असुरक्षित लोन होता है जिसे 12 महीने से लेकर 18 महीने के लिए लिया जा सकता है इस लोन को अल्पकालिक लोन के नाम से भी जाना जाता है आमतौर पर इस लोन को आप दैनिक जरूरतों के लिए आसानी से किसी भी सरकारी बैंक या प्राइवेट बैंक से प्राप्त कर सकते हैं.

टर्म लोन कैसे बंद करें?

अगर आप अपने पर्सनल लोन को लोन अवधि (Loan Tenure) से पहले बंद करवाना चाहते हैं तो सबसे पहले लिए हुए लोन के पैसों को चुकाना होगा, उसके बाद आप जहां से आपने लोन लिया है वहां जाकर पता कर सकते हैं कि कोई पेनाल्टी तो नहीं लगा है। लोन अवधि (Loan Tenure) से पहले पर्सनल लोन को बंद करवाने से आप कर्ज के जाल से बच सकते हैं।

टर्म लोन कितने दिन में पास होता है?

यह लोन आमतौर पर 2 से 5 दिन में अपूर्व हो जाता है लोन अप्रूव होने के बाद आपके दिए गए बैंक खाते में लोन राशि भेज दी जाती है इसके बाद आप हर महीने इस लोन को जमा मासिक किस्त में कर सकते हैं

Conclusion

टर्म लोन क्या होता है टर्म लोन कैसे ले सकते हैं टर्म लोन कितने प्रकार के होते हैं दोस्तों इस आर्टिकल के माध्यम से मैंने आपको कंप्लीट जानकारी दी है उम्मीद करता हूं यह जानकारी आपके लिए बेहद हेल्पफुल रही होगी यदि आपको कोई भी सवाल पूछना है या फिर आपके मन में कोई भी सवाल है जिसे आप हम से पूछना चाहते हैं तो नीचे कमेंट कर सकते हैं.

जैसा कि मैंने आपको इस आर्टिकल में बताया है कि टर्म लोन को आप एक निश्चित समय के लिए ले सकते हैं इसलिए जब भी आप लोन आवेदन करें तो सही से प्लानिंग कर ले क्योंकि बाद में आपको कई सारे चार्ज देने पड़ सकते हैं.

इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया आर्टिकल को पढ़ने के बाद नीचे फीडबैक अवश्य दीजिए.

आपको यह पोस्ट केसी लगी?
+1
1
+1
0
+1
0

हम लोनपाए टीम है, जिसमे कार्य करने वाले फाइनेंस, बैंकिंग, शेयर मार्केट और ऋण की विशेष रूप से जानकारी रखते है, और B. Tech. M.A. Commerce, Financial तक की पढाई कर चुके है, हमारा मकसद सिर्फ इतना है की जो हमने पिछले 4 साल में सीखा है। बैंक, लोन और फाइनेंस के फील्ड में काम करते हुए, उसको सही ढंग से आपके साथ साझा किया जाये.

Leave a Comment

Copy Not Allowed